भाजपा के कार्यालय केवल ढांचा या भवन नहीं हैं, बल्कि ये तो कार्यकर्ताओं को संस्कारित करने के केंद्र हैं: जगत प्रकाश नड्डा


ओडिशा के छह नए जिला कार्यालयों – अनुगुल, बारगढ़, सुंदरगढ़, बारीपाड़ा, क्योंझर और ढेंकनाल का उद्घाटन

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा ने 17 नवंबर 2020 को पार्टी के केंद्रीय कार्यालय से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से ओडिशा के छह नए जिला कार्यालयों – अनुगुल, बारगढ़, सुंदरगढ़, बारीपाड़ा, क्योंझर और ढेंकनाल का उद्घाटन किया और विश्वास व्यक्त किया कि ये कार्यालय कार्यकर्ताओं को संवर्धित करने में बेहतर भूमिका निभाते हुए पार्टी और जनता के बीच सेतु का काम करेंगे।

केंद्रीय कार्यालय में मंच पर श्री नड्डा के साथ केंद्रीय मंत्री श्री धर्मेंद्र प्रधान, केन्द्रीय मंत्री श्री प्रताप सारंगी, पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री बैजयंत पांडा एवं पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ. संबित पात्रा उपस्थित थे जबकि ओडिशा से प्रदेश अध्यक्ष श्री समीर मोहंती, प्रदेश में नेता प्रतिपक्ष श्री प्रदीप नायक, कार्यालय निर्माण संयोजक एवं राज्य के पार्टी कोषाध्यक्ष श्री सुदर्शन गोयल, कई प्रदेश महामंत्री उपस्थित थे। पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री श्री अरुण सिंह, राष्ट्रीय सह महामंत्री (संगठन) श्री सौदान सिंह, वरिष्ठ नेता श्री जुएल उरांव, श्री सुरेश पुजारी और श्री बिश्वेश्वर टुडू भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से इस उद्घाटन कार्यक्रम से जुड़े।

श्री नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में पार्टी के तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने देश के प्रत्येक जिले में पार्टी कार्यालय के निर्माण का बीड़ा उठाया था और आज हमें यह कहते हुए गर्व की अनुभूति हो रही है कि लगभग 400 से अधिक जिला कार्यालय बन कर तैयार हो गए हैं, 200 जिला कार्यालयों का निर्माण प्रगति पर है और बाकी जिलों में भी इसकी शुरुआत हो चुकी है। यह केवल और केवल भारतीय जनता पार्टी है जिसने कार्यालय निर्माण को प्राथमिकता देकर देश के हर जिले में पार्टी के कार्यालय की नींव रखी है।

ये सभी कार्यालय आधुनिकतम तकनीक और सभी आवश्यक व्यवस्थाओं से सुसज्जित हैं। मैं ओडिशा की कार्यालय निर्माण समिति को इसके लिए हार्दिक बधाई देता हूं। ये कार्यालय केवल ढांचा या भवन नहीं हैं, बल्कि ये तो कार्यकर्ताओं को संस्कारित करने के केंद्र हैं। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि जब पार्टी कार्यालय के बजाय घरों से चलती है तो परिवार की पार्टी बन जाती है लेकिन जो पार्टी कार्यालय से संचालित होती है तो वहां पार्टी ही परिवार बन जाता है। भारतीय जनता पार्टी आज यदि दुनिया की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी बनी है तो इसके पीछे पार्टी की वैचारिक पृष्ठभूमि और संस्कार का सबसे बड़ा योगदान है। कार्यालय में कार्यकर्ता पार्टी के प्रति समर्पित होकर काम करने की प्रेरणा पाते हैं।

अभी हाल ही में संपन्न बिहार विधान सभा चुनाव और देश के कई राज्यों में हुए उपचुनावों की चर्चा करते हुए श्री नड्डा ने कहा कि बिहार विधान सभा चुनाव और 59 सीटों पर हुए उपचुनाव में बिहार सहित समग्र राष्ट्र की जनता ने भारतीय जनता पार्टी को भरपूर आशीर्वाद देकर देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में अटूट आस्था और विश्वास का परिचय दिया। मणिपुर से लेकर गुजरात तक और कर्नाटक से लेकर लद्दाख तक देश की जनता ने भाजपा में विश्वास व्यक्त किया। बिहार में हमारा स्ट्राइक रेट सबसे अधिक रहा। भाजपा ने 110 सीटों पर चुनाव लड़ते हुए 74 पर जीत दर्ज की। कार्यकर्ताओं ने जिस तरह समर्पित भाव से काम किया और जनता ने जिस तरह से भाजपा का समर्थन किया, इसके लिए मैं उन्हें साधुवाद देता हूं। चुनाव में बिहार की जनता ने तय कर दिया कि अब विकास राज चलेगा, गुंडाराज नहीं। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने जातिवाद, परिवारवाद और तुष्टिकरण की राजनीति का अंत कर ‘सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास’ की नई संस्कृति विकसित की है। भाजपा को आशीर्वाद देकर देश की जनता ने कोविड मैनेजमेंट और लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों की समस्या पर मोदी सरकार की नीति पर भी मुहर लगाई है।

श्री नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कोविड के खिलाफ देश को साथ लेकर लड़ाई लड़ी है। अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में भी कोविड मैनेजमेंट एक बहुत बड़ा मुद्दा रहा। दुनिया के बड़े-बड़े देश अच्छी स्वास्थ्य व्यवस्थाओं के बावजूद अपने आपको जहां असहाय पा रहे थे, वहीं प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने समय पर साहसिक निर्णय लेते हुए न केवल देश को सुरक्षित किया बल्कि इससे लड़ने के लिए भी देश को एकजुट किया। आज हमारी टेस्टिंग फैसिलिटी 15 लाख प्रतिदिन पहुंच गई है। पर्याप्त संख्या में आज डेडिकेटेड कोविड बेड्स हैं, आज वेंटीलेटर उत्पादन में भी हम आत्मनिर्भर हो रहे हैं और पीपीई किट्स का तो हम आज निर्यात कर रहे हैं।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत 20 लाख करोड़ रुपये की निधि की व्यवस्था की गई जिसमें से कृषि इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए एक लाख करोड़ रुपये और एमएसएमई के लिए तीन लाख करोड़ रुपये आवंटित किये गए। गरीब कल्याण रोजगार योजना के तहत ओडिशा के गंजम, बालासोर, बोलांगिर और भद्रक जिले में प्रवासी मजदूरों को रोजगार दिए जाने की मुहिम शुरू की गई है।
श्री नड्डा ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान जब सभी पार्टियां लॉक्ड थीं, तब केवल और केवल भारतीय जनता पार्टी थी जिसके एक-एक कार्यकर्ता ने अपनी-अपनी जान की परवाह किये बगैर जरूरतमंदों की सेवा में अपने आप को समर्पित कर दिया। ओडिशा में पार्टी कार्यकर्ताओं ने लाखों राशन पैकेट्स और राशन किट्स का वितरण किया, 60 हजार से अधिक सैनिटाइजर और 7 लाख से अधिक फेस कवर का वितरण किया गया। पार्टी कार्यकर्ताओं ने संपर्क अभियान और वर्चुअल रैलियों का सफलतापूर्वक आयोजन किया।

श्री नड्डा ने कहा कि ओडिशा का विकास सदैव ही हमारी प्राथमिकता में रहा है। स्वास्थ्य मंत्री रहते हुए मैंने ओडिशा में आयुष्मान भारत को लागू करने के लिए अथक प्रयास किये लेकिन ओडिशा की बीजद सरकार ने इसे राज्य में लागू नहीं होने दिया। मैं आज भी ओडिशा सरकार से आयुष्मान भारत को प्रदेश में लागू करने का आग्रह करता हूं। ओडिशा सरकार को इस पर विचार करना चाहिए। ओडिशा में लगभग 9,000 करोड़ रुपये की लागत से 451 किमी लंबी दीघा-गोपालपुर कोस्टल हाइवे का निर्माण किया जा रहा है, 3791 करोड़ रुपये की लागत से खोर्दा – बोलांगिर न्यू लाइन बनाया जा रहा है, 4500 करोड़ रुपये की लागत से कटक-अंगुल-संबलपुर हाइवे का निर्माण हो रहा है और भारतमाला प्रोजेक्ट के तहत भुबनेश्वर में 68 किमी लंबे रिंग रोड का निर्माण हो रहा है। 11,300 करोड़ रुपये की लागत से पारादीप में गैसीफिकेशन प्लांट पर काम हो रहा है जो ओडिशा के आर्थिक जगत के लिए बहुत बड़ी पहल है। यह भारतीय जनता पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं की जिम्मेवारी है कि हम ओडिशा के विकास के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के प्रयासों को राज्य के घर-घर तक लेकर जाएं।

श्री नड्डा ने कहा कि हमें ग्रासरूट लेवल तक केंद्र की मोदी सरकार के काम काज और ओडिशा के विकास के लिए उनके द्वारा उठाये गए क़दमों को लेकर जाना है। केंद्र की भाजपा सरकार ने ओडिशा में छः नए मेडिकल कॉलेज खोले हैं जो राज्य के विकास की नई कहानी कहते हैं। पार्टी ने राज्य में अपनी जड़ों को और मजबूत किया है। राज्य की 33 ट्राइबल सीटों में से 11 पर भाजपा ने जीत दर्ज की है और यहां वोट प्रतिशत भी 21 प्रतिशत से बढ़ कर 38 प्रतिशत तक पहुंचा है। इसके साथ ही विधान सभा चुनावों में भी भाजपा का वोट प्रतिशत 18 प्रतिशत से बढ़ कर 32 प्रतिशत पर आ गया है जो इस बात का संकेत है कि ओडिशा में भाजपा मंजिल के बहुत ही नजदीक है। बहुत जल्द ही ओडिशा में भारतीय जनता पार्टी की सरकार होगी।