पांचों राज्यों में भाजपा की लहर


जैसे-जैसे असम, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, पुडुचेरी एवं केरल में चुनाव प्रचार तेज हो रहा है, भाजपा के पक्ष में जनसमर्थन भी तेजी से बढ़ रहा है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा पूरे देश की आशा एवं विश्वास की एक नई किरण बनकर उभरी है। भाजपा के प्रति बढ़ता जन-समर्थन रैलियों एवं जनसभाओं में स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है जिससे इन पांचों राज्यों में बहते चुनावी बयार को समझा जा सकता है। अपार उत्साह, आशा एवं अपेक्षा, भाजपा पर अटूट विश्वास तथा सकारात्मक वातावरण लोगों के नए आत्मविश्वास एवं भारतीय लोकतंत्र की सफलता का जीता-जागता उदाहरण है। ऐसा लगता है कि लोग यह समझ चुके हैं कि भारत का समय आ चुका है और उन्हें भारत उदय की इस प्रक्रिया को सुदृढ़ करने के लिए मतदान करना है जिससे ‘आत्मनिर्भर भारत’ का स्वप्न साकार हो सके। इन पांच राज्यों में हो रहे चुनावों में लोग ‘नए भारत’ के निर्माण प्रक्रिया में भागीदार बनने के लिए तत्पर हैं।
भाजपा ने असम, पश्चिम बंगाल एवं तमिलनाडु के लिए अपना ‘संकल्प-पत्र’ जारी कर दिया है। असम के लिए भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा ने ‘संकल्प-पत्र’ जारी कर दस प्रमुख प्रतिबद्धता के जरिए प्रदेश के सर्वांगीण विकास का मार्ग प्रशस्त किया है। पिछले पांच वर्षों में अनेक मजबूत एवं अभिनव प्रयासों के द्वारा भाजपा ने असम में शांति, विकास एवं प्रगति का युग प्रारंभ किया है। परिणामस्वरूप प्रदेश में भाजपा के प्रति जनसमर्थन तेजी से बढ़ा है। अब जबकि लोग असम में पुनः भाजपा सरकार चुनने का मन बना चुके हैं, इसमें कोई संदेह नहीं कि आने वाले दिनों में भाजपा ‘संकल्प-पत्र’ से एक ‘आत्मनिर्भर असम’ का निर्माण होगा।

पश्चिम बंगाल के लिए ‘संकल्प-पत्र’ केंद्रीय गृहमंत्री श्री अमित शाह ने जारी कर ‘सोनार बांग्ला’ के स्वप्न को साकार करने के भाजपा के संकल्प को सुदृढ़ किया है। इस ‘संकल्प-पत्र’ में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि एवं आयुष्मान भारत जैसे जनहितकारी केंद्रीय योजनाएं जिनसे तृणमूल सरकार द्वारा प्रदेश की जनता को अब तक वंचित रखा गया है, उन्हें लागू करने की प्रतिबद्धता व्यक्त की गई है। इस ‘संकल्प-पत्र’ में अनेक महत्वपूर्ण योजनाओं का उल्लेख है जिससे कांग्रेस-वामदलों-तृणमूल के दशकों के भ्रष्टाचार, लूट, विकास-विरोधी एवं गुंडागर्दी की राजनीति को खत्म कर प्रदेश में विकास एवं प्रगति के नए वातावरण का निर्माण होगा। यह एक ऐसा विस्तृत संकल्प है जिससे वंचित, शोषित, किसान, मजदूर, अनु.जा. एवं अनु.जन.जा., पिछड़ा वर्ग, महिला एवं युवा का नए अवसरों के निर्माण के माध्यम से व्यापक सशक्तिकरण होगा।

तमिलनाडु के लिए ‘संकल्प-पत्र’ केंद्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी के द्वारा जारी किया गया जिसमें समाज के हर वर्ग के लिए भविष्योन्मुखी योजनाएं प्रस्तुत की गई हैं। एक ओर जहां कृषि के लिए विशेष बजट का प्रावधान किया गया है, वहीं दूसरी ओर 50 लाख रोजगार, घर पर राशन पहुंचाने, छात्रों के लिए लैपटाॅप, हर जिले में मल्टी स्पेशियलिटी अस्पताल बनाने का भी संकल्प है।

भाजपा एक ऐसी राजनैतिक पार्टी है जो जनता पर राज करने के लिए नहीं, बल्कि जन-जन की सेवा करने के लिए सरकार बनाती है। भाजपा कार्यकर्ताओं के अथक प्रयास एवं नेतृत्व की अटूट प्रतिबद्धताओं के कारण वे कार्य भी सिद्ध हुए हैं जो कुछ वर्ष पहले तक असंभव लगते थे। अब जबकि वैश्विक महामारी का एक वर्ष पूर्ण हो चुका है, प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व के प्रति जनविश्वास देश के कोने-कोने में पहले से कई गुना अधिक बढ़ा है। ‘आत्मनिर्भर भारत’ के आह्वान से देश में एक नई ऊर्जा का प्रवाह हुआ है और अब हर कोई सफलता की कोई नई कहानी लिखने को तत्पर है। सकारात्मकता, आशा एवं विश्वास तथा विपरीत परिस्थितियों में भी विजय का संकल्प अब श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व की पहचान बन चुकी है। इसमें कोई संदेह नहीं कि उनके नेतृत्व में देश सफलता की नई गाथाएं लिख रहा है। इन पांच प्रदेश के चुनावों में जनता भाजपा को अपना भरपूर आशीर्वाद देकर और अधिक मजबूत बनाने का संकल्प ले चुकी है।

  shivshaktibakshi@kamalsandesh.org