मरांडीजी के भाजपा में आने से जन-कल्याण के लिए हमारी संघर्ष की ताकत कई गुनी बढ़ेगी : अमित शाह


भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की उपस्थिति में 17 फरवरी को रांची (झारखंड) के जगन्नाथपुर मैदान, धुर्वा में झारखंड के प्रथम मुख्यमंत्री एवं वर्तमान में झारखंड विकास मोर्चा के अध्यक्ष श्री बाबूलाल मरांडी ने अपने लाखों कार्यकर्ताओं के साथ भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता पुनः ग्रहण की। श्री शाह ने बाबूलाल मरांडी को माला पहनाकर पार्टी में स्वागत किया। इसके साथ ही झारखंड विकास मोर्चा का भी भारतीय जनता पार्टी में विधिवत विलय हो गया। जगन्नाथपुर मैदान में लाखों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ता इस ‘मिलन समारोह’ के साक्षी रहे। कार्यक्रम को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष श्री लक्ष्मण गिलुआ, वरिष्ठ भाजपा नेता श्री करिया मुंडा, झारखंड के निवर्तमान मुख्यमंत्री श्री रघुबर दास, पूर्व मुख्यमंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता श्री अर्जुन मुंडा एवं श्री बाबूलाल मरांडी ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री ओम माथुर, भाजपा के प्रदेश महामंत्री (संगठन) श्री धर्मपाल सिंह, श्री रामविचार नेताम, झारखंड के सभी भाजपा सांसद, विधायक एवं पार्टी के कई पदाधिकारी उपस्थित थे।

श्री शाह ने भाजपा में श्री बाबूलाल मरांडी का स्वागत करते हुए कहा कि मैं आज झारखंड आकर खुशी महसूस कर रहा हूं कि 14 वर्ष बाद श्री मरांडी कमल का निशान लेकर पार्टी में लौटे हैं, उनकी घर वापसी हुई है। उन्होंने कहा कि झारखंड की पावन धरा भगवान् बिरसा मुंडा की धरती है और हमारी सरकार ने सदैव ही आदिवासी शहीदों को पूरा सम्मान दिया है। जब श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी ने अलग राज्य के रूप में झारखंड का निर्माण किया और हमें सरकार बनाने का अवसर मिला तो हमने एक आदिवासी शख्सियत श्री बाबूलाल मरांडी जी को प्रदेश का नेतृत्व सौंपा। उन्होंने कहा कि जब मैं 2014 में भाजपा अध्यक्ष बना था, उसी के बाद से बाबूलाल मरांडी जी को भाजपा में लाने की कोशिश कर रहा हूं, लेकिन आज वे झारखंड के लोगों की इच्छा के अनुसार भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए हैं। उन्होंने कहा कि श्री मरांडी के भाजपा में आने से पार्टी की झारखंड के विकास एवं यहां की जनता के कल्याण के लिए संघर्ष की ताकत कई गुनी बढ़ेगी, इसमें कोई संशय नहीं है।

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि यह कहा जा रहा है कि भाजपा झारखंड में चुनाव हार गई, लेकिन भारतीय जनता पार्टी का लक्ष्य कभी भी चुनाव जीतना या हारना नहीं होता अपितु हमारा लक्ष्य तो प्रदेश और देश को आगे बढ़ाते हुए मां भारती को सर्वोच्च स्थान पर प्रतिष्ठित करने का होता है। केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि झारखंड की नई सरकार यदि रघुबर सरकार की विकास की परंपरा को आगे बढ़ाती है, आदिवासियों, महिलाओं, दलितों और पिछड़े समाज के लोगों के कल्याण के लिए कार्य करती है, तो भारतीय जनता पार्टी जिम्मेदारी से विकास कार्यक्रमों के साथ दिखाई पड़ेगी लेकिन जिस तरह से पश्चिम सिंहभूमि जिले में सात लोगों की नृशंस हत्या की गई है, उसकी जितनी भी निंदा की जाय, वह कम है। भारतीय जनता पार्टी के सांसदों की एक टीम जांच के लिए वहां गई थी, उन्होंने एक रिपोर्ट दी है। मैंने वह रिपोर्ट देखी है। साथ ही नृशंस हत्या की तसवीरें भी मैंने देखी है। ऐसी नृशंस और निर्मम हत्या मैंने अपनी पूरी जिंदगी में नहीं देखी।

निर्मम तरीके से सात लोगों की हत्या हुई, लेकिन झारखंड सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं की। यदि इसी तरह झारखंड में लचर कानून-व्यवस्था बनी रही, तो हम सड़क से लेकर सदन तक इसके खिलाफ आवाज बुलंद करेंगे।

श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा के नेतृत्व में श्री बाबूलाल मरांडी जी भारतीय जनता पार्टी में पुनः शामिल हुए हैं। मैं उन्हें विश्वास दिलाता हूं कि भारतीय जनता पार्टी हमेशा ही आपको अपना ही मानती है और आज भी आपको अपना ही मानकर आपकी शक्तियों का महत्तम उपयोग झारखंड के हित में सुनिश्चित करेगी। मैं बाबूलाल जी के साथ आये हुए उनके लाखों कार्यकर्ताओं को भी आश्वस्त करना चाहता हूं कि केवल बाबूलाल मरांडी जी ही नहीं, आप सब भी भाजपा को अपना ही घर मान कर आये हैं। यहां भी आपके साथ अपने जैसा ही व्यवहार होगा। आपका भारतीय जनता पार्टी में उचित सम्मान भी होगा और आपको उचित जिम्मेवारी भी दी जायेगी।

इससे पहले ‘मिलन समारोह’ को संबोधित करते हुए श्री बाबूलाल मरांडी ने केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह जी का धन्यवाद किया। साथ ही, उपस्थित सभी लोगों के प्रति आभार जताया। उन्होंने कहा कि आज भारतीय जनता पार्टी में मेरा जिस तरह से बाहें फैलाकर स्वागत किया गया है, उसके लिए मैं सबका आभार प्रकट करता हूं। उन्होंने कहा कि आज मैं पार्टी में आया हूं तो किसी पद की लालसा में नहीं आया। मुझे पार्टी जो भी जिम्मेदारी देगी, मैं उसे स्वीकार करूंगा और एक आम कार्यकर्ता की तरह काम करूंगा।