कांग्रेस केवल विरोध की राजनीति करती है : जगत प्रकाश नड्डा


आदरणीय राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा जी ने 21 फरवरी को नई दिल्ली के एनडीएमसी सेंटर में भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक को संबोधित करते हुए पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को ऊर्जा के साथ संगठन के कार्य को आगे बढ़ाने का आह्वान किया। माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष ने पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए कहा कि ‘आत्मनिर्भर भारत’ के लिए देश भर में व्यापक अभियान चलायें जिसके अंतर्गत वे वोकल फॉर लोकल, स्वदेशी उत्पाद को बढ़ाने का संकल्प लें। पार्टी कार्यकर्ता युवाओं में स्टार्टअप के लिए जागरूकता अभियान चलायें और फार्मर प्रोड्यूसर ऑर्गेनाईजेशन (FPOs) के बारे में किसानों को जागरुक करते हुए उन्हें सहयोग दें। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए कहा कि पार्टी आदिवासी क्षेत्रों में लोगों की आजीविका को बढ़ाने के विषय को भी एक अभियान के रूप में अपने हाथ में लेने वाली है। पार्टी कार्यकर्ता इसे भी एक मिशन मोड में आगे बढायें। मोदी सरकार द्वारा पोषण का एक महत्वपूर्ण अभियान चलाया जा रहा है, इस अभियान को भी सफल बनाने के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं विशेष रूप से हमारे महिला मोर्चा के कार्यकर्ताओं को नीचे तक सक्रियता बढ़ाते हुए कार्य करना चाहिए।
बैठक के दौरान पार्टी ने माना कि पूरे कोरोना के कार्यकाल में विपक्ष खासकर कांग्रेस के द्वारा झूठ और भ्रम की बुनियाद पर देश में अनावश्यक भय पैदा करने की कोशिश की गई लेकिन उनकी हर कोशिश पूरी तरीके से विफल हुई। प्रस्ताव में भी इस बात पर चर्चा की गई है। इसके अतिरिक्त यह भी कहा गया कि कांग्रेस केवल विरोध की राजनीति करती है। कांग्रेस अपने कार्यकाल में जीएसटी लागू नहीं कर पाई लेकिन जब हमारी सरकार ने इसे लागू किया तो उन्हें दुःख हो रहा है। इसी तरह कांग्रेस अपने संकल्प पत्र में कृषि सुधारों की बात करती है लेकिन जब मोदी सरकार किसानों के कल्याण के लिए कृषि सुधार करती है तो कांग्रेस किसानों को गुमराह करने में लग जाती है। हम राम मंदिर के निर्माण की बात करते थे तो कांग्रेस तरह-तरह के प्रश्न उठाती थी लेकिन आज जब राम मंदिर बनने जा रहा है तो कांग्रेस चुप है। धारा 370 जैसे राष्ट्रीय एकता के विषय को हमने आगे बढ़ाया है लेकिन हर विषय में छींटाकशी करना और यहाँ तक कि लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करना कांग्रेस की आदत बन गई है। टीकाकरण का विरोध भी कांग्रेस के विरोध के पूर्वाग्रह से ग्रसित होने का ही परिचायक है। ऐसा लगता है कि कांग्रेस विरोध के ग्रहण के कारण अंधेरे में चली गई है।
पार्टी के सभी पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं का मानना है कि माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने मानवता की सेवा के लिए जितने भी कदम उठाये, उन्हें अमल में लाने कार्य किया। माननीय प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में पार्टी का हर कार्यकर्ता ‘सेवा ही संगठन’ के संकल्प को आगे बढ़ाते हुए पार्टी के विस्तार के लिए कार्य करने को तत्पर है। उन्होंने कहा कि पार्टी ने जो अभियान हाथ में लिए हैं, उन सभी कार्यक्रमों को पार्टी 6 अप्रैल, स्थापना दिवस के दिन करेगी। 14 अप्रैल को बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर जी की जयंती के अवसर पर पार्टी इस संदेश को हर बूथ और मंडल तक लेकर जाएगी। पार्टी की राष्ट्रीय बैठक में जिन विषयों को लेकर चर्चा हुई है और आने वाले कार्यक्रमों की रूप-रेखा बनी है, उस पर आने वाले 15 दिनों में प्रदेश स्तर, जिला स्तर और मंडल स्तर पर चर्चा की जायेगी और कार्य योजना बनेगी। राष्ट्रगान के साथ इस एकदिवसीय राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक का समापन हुआ।