ये परिवर्तन यात्रा टीएमसी को उखाड़ फेंकने के लिए है : अमित शाह


केंद्रीय गृह मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता श्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल के अपने दो दिवसीय दौरे पर 18 फरवरी को दक्षिण 24 परगना में आयोजित एक विशाल जन-सभा को संबोधित किया और कहा कि हम बंगाल में बदलाव करने के लिए आए हैं और हमारी लड़ाई तृणमूल कांग्रेस के सिंडिकेट से है। इस बार विधानसभा चुनाव के बाद हम तृणमूल कांग्रेस को उखाड़ फेंकेंगे और विकास के प्रति समर्पित भारतीय जनता पार्टी की पूर्ण बहुमत की सरकार बनायेंगे। इससे पूर्व, उन्होंने काकद्वीप से भाजपा के राज्यव्यापी पांचवें और अंतिम परिवर्तन यात्रा को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। श्री शाह ने सुबह कोलकाता स्थित भारत सेवाश्रम संघ और इसके बाद, गंगासागर स्थित कपिल मुनि आश्रम जाकर पूजा-अर्चना भी की. जन-सभा संबोधन के बाद माननीय गृह मंत्री जी ने नारायणपुर गांव में शरणार्थी परिवार सुब्रत विश्वास के घर दोपहर का भोजन किया। तत्पश्चात, काली मंदिर से एसबीआई ब्रांच, काकद्वीप, दक्षिण 24 परगना तक एक भव्य रोड शो किया जिसमें अपार भीड़ उमड़ी. इसके बाद, माननीय गृह मंत्री जी कोलकाता स्थित अरबिंदो भवन भी गए.

माननीय गृह मंत्री ने तीर्थों के तीर्थ स्थल गंगासागर को नमन करते हुए कहा कि भारत के पश्चिमी भाग (गुजरात) में मैंने जन्म लिया और पूर्व में जहाँ माँ गंगा सागर से मिलती है, उस जगह आकर आप सभी का दर्शन कर गर्व से आनंदित हूं और यह मेरे लिए सौभाग्य की बात है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में गंगोत्री से गंगासागर तक गंगा के शुद्धिकरण का नमामि गंगे कार्यक्रम चला है, मगर वो बंगाल आकर रूक जाता है। मुझे पूरा भरोसा है कि यहां जब भाजपा की सरकार बनेगी तब बंगाल से गंगासागर तक भी नमामि गंगे योजना पूरा होगा। उन्होंने कहा कि गंगासागर को हम अंतरराष्ट्रीय सांस्कृतिक पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करेंगे ताकि पूरी दुनिया से यहां पर्यटक आ सकें। हमारी सरकार बनने के बाद हम ये सुनिश्चित करेंगे कि यहां केंद्र सरकार की पर्यटन की जितनी भी योजनाएं हैं उनको लागू करें और यहां उत्तरायण का जो मेला लगता है उसे राष्ट्रीय मेले का दर्जा भी मिले । गंगासागर को केंद्र सरकार की प्रसाद योजना के तहत भी लाएंगे।

माननीय गृह मंत्री ने नामखाना के इंदिरा मैदान से पांचवी परिवर्तन यात्रा की शुरुआत करते हुए कहा कि हमारा लक्ष्य सिर्फ सत्ता परिवर्तन नहीं है बल्कि हमारी लड़ाई सोनार बांग्ला बनाने की है। ये परिवर्तन यात्रा पीएम मोदी का संदेश लेकर आ रही है। ये यात्रा टीएमसी को उखाड़ फेंकने के लिए है। गरीबों को हक दिलाने के लिए बंगाल में परिवर्तन जरूरी है। पश्चिम बंगाल के आदिवासी परिवार के लोगों के जीवन में परिवर्तन हो इसलिए ये परिवर्तन यात्रा लाये हैं. किसानों को फसल सही दाम मिले, कोई बिचौलिया न हो, उसके लिए ये परिवर्तन यात्रा है. प्राकृतिक आपदा के समय आपका अधिकार कोई और न ले जाए, इसे परिवर्तन कहते हैं। मछुआरे भाइयों को नाव चलाने के लिए किसी को रिश्वत न देनी पड़े, ये परिवर्तन है।

आदिवासियों को रहने के लिए कट मनी न देनी पड़े, इसे परिवर्तन कहते हैं। 294 विधानसभा क्षेत्रों से ये परिवर्तन रथ गुजरने वाला है। आज परिवर्तन यात्रा का पांचवा चरण शुरू हो रहा है। ये यात्रा बंगाल के हर विधानसभा क्षेत्र से गुजरने वाली हैं। माननीय गृह मंत्री ने प्रदेश की ममता सरकार को ललकारते हुए कहा कि ये लड़ाई भाजपा के कार्यकर्ता और टीएमसी के सिंडिकेट के बीच की लड़ाई है। आप सिंडिकेट वालों को बदलने का काम करोगे या नहीं करोगे।

केंद्र की नरेन्द्र मोदी सरकार जो भी प्रदेश की मदद के लिए भेजती है, उसे यहां की सरकार आम लोगों तक पहुँचने नहीं देती है। ममता बनर्जी ने बंगाल की स्थिति बदतर कर दी है। इसीलिए बंगाल में डबल इंजन की सरकार जरूरी है ताकि यहाँ तेज गति से विकास हो सके। आप एक बार बंगाल में भाजपा की सरकार बना दीजिए, बंगाल के सभी सरकारी कर्मचारियों को सातवें वेतनमान का लाभ दिया जाएगा। शिक्षक भाइयों को उचित मानदंड मिले, इसके लिए एक कमेटी का गठन भारतीय जनता पार्टी की सरकार करेगी। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में भाजपा की सरकार बनने पर मछुआरों को हर साल 6000 रुपये दिए जाएंगे जैसे कि किसानों को सम्मान निधि मिलती है। इसके साथ ही यहाँ अलग मछुआरा मंत्रालय भी बनाया जाएगा। इसके अतिरिक्त, 24 परगना क्षेत्र को सी-फ़ूड प्रोसेसिंग हब के रूप में विकसित किया जाएगा जिससे सारी उपज प्रोसेसिंग हो सके.

माननीय गृह मंत्री ने टीएमसी के आतंक पर हमला बोलते हुए कहा कि टीएमसी के राज में राजनीतिक हिंसा को बढ़ावा दिया जा रहा है. मैं उनसे कहना चाहता हूं कि ममता दीदी तृणमूल के गुंडो ने हमारे 130 कार्यकर्ताओं को मारा है, उनकी शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी. हम टीएमसी के गुंडों को पाताल से भी ढूंढ निकालेंगे। ममता दीदी सोचती हैं कि किसी को मार देने से भाजपा रुक जाएगी लेकिन मैं ममता जी को कहना चाहता हूं कि बंगाल की धरती पर ताकत के साथ कमल खिलने वाला है। जो गुंडे ममता दीदी की शह पर आज छिपकर बैठे हैं, उनको मैं कहना चाहता हूं कि जहां छिपना है छिप जाओ। भाजपा की सरकार बनने के बाद पाताल में से भी ढूंढकर लाएंगे और जेल में डालेंगे। टीएमसी सरकार ने बंगाल में घुसपैठियों को जगह दी, हमारी सरकार एक-एक घुसपैठिये को बाहर निकलेगी ।

उन्होंने कहा कि ममता सरकार आम जनता को नजरंदाज कर सिर्फ भतीजा बढ़ाओ अभियान को चला रही है। भतीजे के कल्याण के अलावा टीएमसी के मन में कोई अभिलाषा नहीं है। जबकी नरेंद्र मोदी जी का नारा है, सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास। बंगाल के विकास के लिए मोदी जी ने ढेर सारे पैसे भेजे। मगर ये पैसे दीदी के सिंडिकेट की भेंट चढ़ गए। अम्फान तूफान के बाद केंद्र सरकार ने जो पैसा भेजा, उसे टीएमसी के गुंडे खा गए। हमारी सरकार बनेगी तो हम इसकी जांच करेंगे।

माननीय गृह मंत्री ने ममता सरकार की तुष्टिकरण नीति पर निशाना साधते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल में दुर्गा पूजा करने के लिए आज अदालत से इजाजत लेनी पड़ती है। बीजेपी के दबाव के बाद ममता बनर्जी भी सरस्वती पूजन कर रही है, मुझे इससे बहुत खुशी हुई. हम बंगाल में तुष्टिकरण की राजनीति खत्म करेंगे ताकि लोग सरस्वती पूजा, दुर्गा पूजा और रामनवमी जैसे पर्व भयमुक्त माहौल में मना पाएं। जय श्री राम का नारा लगता है, तो दीदी बोलती हैं कि उनका अपमान करते हैं। ममता दीदी जान लें कि ये नारा हमारी यात्रा का प्रतीक है।