आज देश में विकास के लिए एक सकारात्मक माहौल है : नरेन्द्र मोदी


आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने 21 फरवरी को नई दिल्ली के एनडीएमसी सेंटर में भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक का उद्घाटन किया और पार्टी के राष्ट्रीय पदाधिकारियों का मार्गदर्शन किया। राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा जी की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय पदाधिकारी, प्रदेशों के प्रभारी, सभी मोर्चों के राष्ट्रीय अध्यक्ष, सभी प्रदेशों के प्रदेश भाजपा अध्यक्ष एवं प्रदेश महामंत्रियों (संगठन) ने भाग लिया।
कार्यक्रम का उद्घाटन माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा दीप प्रज्ज्वलन के साथ शुरू हुआ। इसके पश्चात् राष्ट्रीय गीत ‘वंदे मातरम्’ का गान हुआ। पुनः कोविड-19 महामारी के कारण जो बहुत सारे लोग हमारे बीच नहीं रहे, उनके असामयिक निधन पर शोक व्यक्त किया गया।
माननीय प्रधानमंत्री जी ने अपने उद्बोधन में कहा कि भारतीय जनता पार्टी का संगठन और पार्टी का मिशन केवल सत्ता प्राप्त करना नहीं बल्कि हमेशा देश को आगे बढ़ाना है। उनका कहना था कि देश को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से संगठन को भी उसी हिसाब से अपनी गुणवत्ता का विकास करना चाहिए। माननीय प्रधानमंत्री जी ने कहा कि “सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास” – यही भारतीय जनता पार्टी का मूल मंत्र है। इसी मूलमंत्र को आधार मानकर आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की केंद्र सरकार और राज्य सरकारें देश भर में सकारात्मक कार्य कर रही है चाहे जीएसटी सुधार का विषय हो, कृषि सुधार का विषय हो या फ्रेट कॉरिडोर का विषय हो। माननीय प्रधानमंत्री जी ने यह भी कहा कि आज देश में विकास के लिए एक सकारात्मक माहौल है, इसलिए देश के विकास के लिए पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को आगे बढ़कर संगठन का विस्तार करते हुए “नेशन फर्स्ट” के लिए काम करते रहना चाहिए। माननीय प्रधानमंत्री जी का हम सबको सरल, सहज और कार्यकर्ताओं से सीधे संवाद के रूप में मार्गदर्शन मिला, यह हम सबके लिए सौभाग्य की बात है।
राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक में पारित राजनीतिक प्रस्ताव में सजग, संवेदनशील, संकल्पवान, यशस्वी एवं दूरदर्शी प्रधानमंत्री के रूप में आदरणीय श्री नरेन्द्र मोदी जी को धन्यवाद दिया गया। राजनीतिक प्रस्ताव में वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमण के दौरान देश को कोविड-19 के खिलाफ निर्णायक लड़ाई के लिए तैयार करने और ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ की नीति को चरितार्थ करते हुए पूरी दुनिया का मार्गदर्शन करने के लिए माननीय प्रधानमंत्री जी के प्रति आभार प्रकट किया गया। प्रस्ताव में इस बात को रेखांकित किया गया कि किस तरह कोरोना संकट काल में माननीय प्रधानमंत्री जी ने न केवल देश के लगभग 80 करोड़ गरीब लोगों की चिंता की बल्कि कई आर्थिक पैकेज और ‘आत्मनिर्भर भारत’ अभियान के माध्यम से देश के अर्थचक्र को भी गति दी। माननीय प्रधानमंत्री जी ने एक ओर देश के लगभग 80 करोड़ लोगों के लिए लगभग 8 महीनों तक के लिए मुफ्त राशन की व्यवस्था की तो वहीं दूसरी ओर प्रवासी मजदूरों के लिए रोजगार अभियान की भी शुरुआत की। कोविड लॉकडाउन के दौरान गरीब कल्याण पैकेज के माध्यम से यह सुनिश्चित किया गया कि देश में कोई भी व्यक्ति भूखा न सोने पाए। इस दौरान प्रत्येक 20 करोड़ महिला जन-धन खाताधारक के एकाउंट में तीन किस्तों में 1,500 रुपये डाले गए तो बुजुर्ग, विधवाओं एवं दिव्यांगों को भी 1,000 रुपये की आर्थिक सहायता दी गई। साथ ही, देश के लगभग 8 करोड़ से अधिक किसानों के एकाउंट में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की दो किस्तें भी हस्तांतरित की गईं। लगभग 8 करोड़ से अधिक गरीब महिलाओं को तीन मुफ्त गैस सिलिंडर भी उपलब्ध कराये गए।
राजनीतिक प्रस्ताव में किसानों की भलाई के लिए कृषि सुधार कानूनों को संसद से पारित किये जाने के लिए माननीय प्रधानमंत्री जी का धन्यवाद किया गया और कहा गया कि ये कृषि सुधार न केवल किसानों की आय को बढाने में मददगार साबित होंगे बल्कि उन्हें आत्मनिर्भर बनने में भी मदद करेंगे। प्रस्ताव में आत्मनिर्भर भारत अभियान, वोकल फॉर लोकल, मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में व्यापक उपलब्धि, बैंकों का विलय, श्रम कानूनों का क्रियान्वयन, स्वामित्व योजना, बजट से जुडी घोषणाओं और कृषि इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए एक लाख करोड़ रुपये के आवंटन को भी विस्तार से रेखांकित किया गया। राजनीतिक प्रस्ताव में विश्व के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान के लिए माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का विशेष रूप से धन्यवाद किया गया।
इसके अतिरिक्त प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केवल 34 दिनों में भारत ने लगभग एक करोड़ से अधिक लोगों का टीकाकरण कर एक विश्व रिकॉर्ड कायम किया है। इतना ही नहीं, भारत ने संकट की इस घड़ी में दुनिया के अनेकों देशों को वैक्सीन मुहैया कर मानवता की सेवा का अनुपम उदाहरण प्रस्तुत किया है जिसकी पूरी दुनिया में व्यापक सराहना हो रही है। भारतीय जनता पार्टी अपने प्रधानमंत्री और सर्वोच्च नेता श्री नरेन्द्र मोदी जी का इसके लिए हार्दिक अभिनंदन करती है। राजनीतिक प्रस्ताव में सफल और दूरदर्शी विदेश नीति के लिए भी माननीय प्रधानमंत्री के प्रति आभार प्रकट किया गया है।
राजनीतिक दल की लोकप्रियता एवं विश्वसनीयता का बहुत बड़ा पैमाना माना जाता है। इसलिए राजनीतिक प्रस्ताव में विगत एक वर्ष के दौरान भारतीय जनता पार्टी को देश के कोने-कोने से मिले समर्थन के लिए माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का हार्दिक अभिनंदन किया गया और देश की जनता के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया गया। प्रस्ताव में बिहार विधानसभा चुनावों में मिली जीत और जम्मू-कश्मीर में हुए डीडीसी चुनावों एवं लद्दाख हिल डेवलपमेंट काउंसिल के चुनाव में लोकतंत्र की जीत और भाजपा के शानदार प्रदर्शन को रेखांकित किया गया। इसके साथ ही राजस्थान, अरुणाचल प्रदेश, गोवा के स्थानीय निकाय चुनाव से लेकर बोडो टेरिटोरियल काउंसिल और ग्रेट हैदराबाद म्युनिसिपल काउंसिल तक के चुनावों में भाजपा को मिले ऐतिहासिक जनादेश पर भी जनता का धन्यवाद किया गया। गुजरात, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, मणिपुर और कर्नाटक के विधान सभा उप-चुनावों में भाजपा को मिली शानदार सफलता के लिए भी राज्य की जनता के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित की गई और माननीय प्रधानमंत्री जी का अभिनंदन किया गया।
इस बैठक में कृषि सुधारों, आत्मनिर्भर भारत अभियान, पांच राज्यों में होने वाले विधान सभा चुनाव और पार्टी की संगठनात्मक कार्यों पर चर्चा की गई। बैठक में हिमाचल प्रदेश में विस्तारक योजना और कर्नाटक में कर्नाटक में कार्यकर्ताओं को नए तरीके से नए कार्यक्रमों के माध्यम से पार्टी को मंडल स्तर तक बढ़ाने की योजना पर भी चर्चा की गई।
इससे पहले दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष श्री आदेश गुप्ता ने माननीय प्रधानमंत्री जी का जबकि एससी मोर्चा के अध्यक्ष श्री लाल सिंह आर्या ने आदरणीय राष्ट्रीय अध्यक्ष जी का स्वागत किया। इस बैठक में एक राजनीतिक प्रस्ताव भी पारित किया गया। पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री श्री रमण सिंह ने बैठक में राजनीतिक प्रस्ताव पेश किया जबकि हरियाणा प्रदेश भाजपा अध्यक्ष श्री ओम प्रकाश धनखड़ ने इसका समर्थन किया। इसके पश्चात् बैठक में उपस्थित सभी पार्टी पदाधिकारियों ने इस प्रस्ताव का एकस्वर में समर्थन किया।