सेवा, संकल्प और समर्पण के लिए प्रतिबद्ध भाजपा

Published on:

भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक 07 नवंबर, 2021 को नई दिल्ली के एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर में आयोजित की गई। यह बैठक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा के उद् बोधन के साथ शुरू हुई और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के उद् बोधन के साथ संपन्न हुई। पार्टी के वरिष्ठ नेता श्री लालकृष्ण आडवाणी और डॉ. एम.एम. जोशी भी वर्चुअल तौर पर बैठक में शामिल हुए। बैठक के दौरान सभी भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्यों को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा का मार्गदर्शन प्राप्त हुआ।

बैठक में पार्टी के पूर्व अध्यक्ष और रक्षामंत्री श्री राजनाथ सिंह, पार्टी के पूर्व अध्यक्ष और केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह, पार्टी के पूर्व अध्यक्ष और केंद्रीय सड़क परिवहन और जलमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने भाग लिया। राज्यसभा में भाजपा नेता और केंद्रीय वाणिज्य मंत्री श्री पीयूष गोयल, केंद्रीय वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण और राष्ट्रीय कार्यकारिणी में शामिल सभी केंद्रीय मंत्री इस बैठक में मौजूद थे।

कोविड-19 प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रीय कार्यकारिणी के कई सदस्यों ने बैठक में वर्चुअली भाग लिया। एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर में भारतीय जनता पार्टी के कुल 124 वरिष्ठ नेता उपस्थित थे, जबकि भाजपा शासित राज्यों के सभी मुख्यमंत्रियों और उपमुख्यमंत्रियों तथा सभी भाजपा प्रदेश इकाई के अध्यक्षों और राज्यों के वरिष्ठ नेताओं ने अपने-अपने प्रदेश मुख्यालय से वर्चुअल तौर से बैठक में भाग लिया।

बैठक में विभिन्न विषयों पर चर्चा की गई जिसमें पांच राज्यों में आगामी विधानसभा चुनावों पर एक विशेष मंथन सत्र शामिल था। कोरोना महामारी में जान गंवाने वाले लोगों की याद में एक शोक प्रस्ताव भी पारित किया गया। राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने समाज के अधिक से अधिक वर्गों तक भारतीय जनता पार्टी की पहुंच सुनिश्चित करने और सभी वर्गो के लोगों को पार्टी में शामिल करने के लिए कार्यक्रमों और नीतियों पर भी चर्चा की।

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक स्थल पर एक प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया जिसमें प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की सभी नीतियों और कार्यक्रमों की झलक पेश की गई। इनमें ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ और ‘गरीब कल्याण अन्न योजना’ जैसे कार्यक्रमों से भारत को आत्मनिर्भर बनाने के कार्यक्रम शामिल हैं। प्रदर्शनी में यह भी दिखाया गया कि कैसे कोरोना महामारी के दौरान भारत के गरीब और जरूरतमंद लोगों को दो साल के लिए मुफ्त राशन मिला; कैसे महिलाओं, किसानों, वरिष्ठ नागरिकों, विधवाओं और विशेष रूप से दिव्यांग लोगों को सीधे उनके बैंक खातों में पैसा मिला।

इस प्रदर्शनी में यह भी दिखाया गया कि कैसे भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन और पार्टी अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा के नेतृत्व में कोरोना महामारी के कठिन समय में मानवता की सेवा की और देश भर के करोड़ों गरीब और जरूरतमंद लोगों को राहत और सहायता प्रदान की। भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने स्वयं की परवाह किये बिना, खुद को मानव जाति की सेवा के लिए समर्पित कर दिया। इन सभी को प्रदर्शनी में ‘सेवा ही संगठन’ और ‘सेवा और समर्पण’ कार्यक्रमों के अंतर्गत प्रदर्शित किया। हाल ही में भारत ने 100 करोड़ कोरोना टीकाकरण का लक्ष्य प्राप्त किया और इस प्रकार दुनिया का सबसे बड़ा और सबसे तेज़ टीकाकरण अभियान एक मील का पत्थर हासिल किया; जिसे भी प्रदर्शनी में स्थान दिया गया।