नहीं रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री बची सिंह रावत


पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता श्री बची सिंह रावत का 18 अप्रैल, 2021 को कोविड-19 संबंधित जटिलताओं के कारण अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, ऋषिकेश में निधन हो गया। वह 71 वर्ष के थे। श्री रावत को सांस लेने में कठिनाई और फेफड़ों में संक्रमण के बाद एक दिन पूर्व अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
श्री बची सिंह रावत अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री रहे। वह अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ निर्वाचन क्षेत्र से चार बार सांसद रहे।
श्री रावत के निधन पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने शोक व्यक्त करते हुए ट्वीट कर कहा कि भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री बची सिंह रावत जी के निधन से बहुत दु:ख पहुंचा है। उनका पूरा जीवन जनहित और देशहित में समर्पित रहा। शोक की इस घड़ी में उनके परिजनों और शुभचिंतकों के प्रति मैं अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं।
भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा ने शोक व्यक्त करते हुए ट्वीट किया कि भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री श्री बची सिंह रावत के निधन का दुःखद समाचार प्राप्त हुआ। उनका सम्पूर्ण जीवन जनता की सेवा व संगठन को समर्पित रहा, उनका निधन भाजपा परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। मैं उनके परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं।
रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने कहा कि पूर्व केंद्रीय मंत्री बची सिंह रावत जी के निधन से मुझे बहुत दु:ख हुआ। उन्होंने लम्बे समय तक समाज और देश के लिए काम किया। उत्तराखंड राज्य में भाजपा को मजबूत बनाने में उन्होंने बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उनके शोक संतप्त परिवार के प्रति मेरी हार्दिक संवेदनाएं।
श्री रावत के निधन पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने शोक व्यक्त करते हुए ट्वीट कर कहा कि भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री श्री बची सिंह रावत के निधन का समाचार सुनकर गहरा दु:ख हुआ। भगवान दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान दें, और शोकाकुल परिजनों को दु:ख सहने की शक्ति और धैर्य प्रदान करें।
उत्तराखंड के राज्यपाल बेबी रानी मौर्य, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री मदन कौशिक और अन्य वरिष्ठ नेताओं ने भी उनकी मृत्यु पर दु:ख व्यक्त किया।