सेवा की नई गाथा

Published on:

देश में 50 करोड़ से अधिक टीके लगने के साथ ही भारत ने कोविड-19 महामारी के विरुद्ध लड़ाई में एक महत्वपूर्ण पड़ाव पार कर लिया। साथ ही, ‘सिंगल डोज’ ‘जाॅनसन एंड जाॅनसन’ टीके को स्वीकृति मिलने से देश में टीकाकरण अभियान और भी अधिक तेज होने की संभावना है। एक ओर जहां इस महामारी से पूरा विश्व प्रभावित हुआ है, वहीं प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश में चल रहे विश्व के सबसे बड़े एवं सबसे तेज टीकाकरण अभियान से व्यक्ति के जीवन की रक्षा करने का राष्ट्र का संकल्प और भी अधिक सुदृढ़ हुआ है। टीकाकरण अभियान से जहां हर व्यक्ति के स्वास्थ्य एवं जीवन की रक्षा सुनिश्चित हो रही है, वहीं दूसरी ओर ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ से यह सुनिश्चित हुआ है कि देश में गरीब से गरीब व्यक्ति भी महामारी के इस दौर में भूखा न सोए। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के सुदृढ़ एवं करिश्माई नेतृत्व में भारत एक ऐसे देश के रूप में उभरा है जिसने कोविड-19 महामारी की चुनौतियों का सफलतापूर्वक सामना तो किया ही है, साथ ही विश्व के दूसरे देशों के साथ उनके संकट की घड़ी में कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा भी रहा है।

आज जब पूरा देश एकजुट होकर इस वैश्विक महामारी से लड़ रहा है, भाजपा कार्यकर्ता समर्पण एवं सेवा की नई गाथा लिख रहे हैं।

एक ऐतिहासिक निर्णय में मोदी सरकार ने देशभर के चिकित्सा महाविद्यालयों में अति पिछड़ा वर्ग को 27 प्रतिशत तथा आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को 10 प्रतिशत आरक्षण दिया है। ध्यान देने योग्य है कि पिछले पांच वर्षों में मोदी सरकार ने देश में 179 नए चिकित्सा महाविद्यालय शुरू किए हैं, जिससे स्नातकोत्तर में 56 प्रतिशत तथा स्नातक शिक्षा में 80 प्रतिशत सीटों की बढ़ोतरी हुई है। एक ओर जहां मोदी सरकार की प्राथमिकता स्वास्थ्य अवसंरचना को सुदृढ़ कर उच्चस्तरीय चिकित्सा शिक्षा प्रदान करने पर रही है, वहीं दूसरी ओर इसकी नीतियों, योजनाओं एवं कार्यक्रमों में एक समरस एवं समावेशी समाज के निर्माण के सिद्धांत प्रमुखता से कार्यान्वित किए गए हैं। गरीबों, वंचितों, शोषितों एवं पीड़ितों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध हो मोदी सरकार अनु.जा., अनु.जन.जा., पिछड़ा वर्ग एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए अधिक से अधिक अवसर उपलब्ध कराकर राष्ट्रीय पुनर्निर्माण में उन्हें महत्वपूर्ण भागीदार बना रही है। नए मंत्रिपरिषद् के विस्तार में पिछड़ा वर्ग के 27 मंत्री, अनु.जा. एवं अनु.जन.जा. के 20 मंत्री एवं 11 महिला मंत्री को शामिल करना ‘नए भारत’ की आकांक्षाओं को पूरा करने में हर वर्ग की भागीदारी सुनिश्चित कर पूरे समाज को एकजुट करने का मोदी सरकार के संकल्प का परिचय देता है। पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देना, प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति का विस्तार के साथ-साथ गरीबों, वंचितों, शोषितों, पीड़ितों के लिए अनेक अभिनव योजनाओं से देशभर में नई आशा की किरण जगी है। परिणामतः देश का मेहनतकश गरीब अब पूरे राष्ट्र के लिए नई संभावनाओं के द्वार खोलने को तत्पर हैं।

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा ने एक नए अभियान का शुभारंभ किया है जिसके अंतर्गत पूरे देश में लाखों ‘स्वास्थ्य स्वयंसेवक’ प्रशिक्षित किए जाएंगे। ये ‘स्वास्थ्य स्वयंसेवक’ कोविड-19 महामारी की चुनौतियों का गांव-गांव में सामना करेंगे। ये न केवल लोगों की आवश्यकता पड़ने पर हर प्रकार की सेवा-सहायता करेंगे, बल्कि महामारी के प्रसार को रोकने के लिए प्रतिरक्षात्मक कदम भी उठाएंगे। ध्यान देने योग्य है कि पूरे देश में ‘सेवा ही संगठन’ अभियान के अंतर्गत करोड़ों भाजपा कार्यकर्ताओं ने लोगों को राशन, फेसकवर, सैनिटाइजर एवं अन्य आवश्यक वस्तुएं वितरित किया तथा संक्रमित एवं वरिष्ठ जनों की सेवा-सहायता में खड़े रहकर व्यापक राहत कार्य किए। इस कठिन दौर में जहां दूसरे राजनैतिक दलों ने स्वयं को घरों में बंद कर लिया तथा एक-दूसरे पर कीचड़ उछालने की तुच्छ राजनीति में लिप्त रहे, वहीं भाजपा कार्यकर्ता अपनी जान को दांव पर लगाकर निरंतर जनसेवा में लगे रहे तथा कोरोना योद्धाओं का मनोबल ऊंचा किया। आज जब पूरा देश एकजुट होकर इस वैश्विक महामारी से लड़ रहा है, भाजपा कार्यकर्ता समर्पण एवं सेवा की नई गाथा लिख रहे हैं।

                                                          shivshaktibakshi@kamalsandesh.org