मेघालय में अब तक के पहले इलेक्ट्रिक वेहिकल चार्जिंग स्टेशन की आधारशिला रखी गई

| Published on:

पावर ग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (पावरग्रिड) ने कल शिलौंग के लापालांग स्थित अपने कार्यालय परिसर में मेघालय राज्य में अब तक के पहले इलेक्ट्रिक वेहिकल चार्जिंग स्टेशन (ईवीसीएस) की आधारशिला रखी।

ईवीसीएस को फास्टर एडौप्शन एंड मॅन्यूफैक्चरिंग (हाइब्रिड) एंड इलेक्ट्रिक वेहीकल्स (फेम) इंडिया स्कीम फेज-2 के तहत डेवेलप किया जा रहा है। इस स्कीम के तहत, पावरग्रिड शिलौंग नगर में 11 ईवीसीएस (पांच सार्वजनिक ईवीसीएस तथा 6 सरकारी प्रतिष्ठानों पर) विकसित करेगी। प्रत्येक स्टेशन में चार 15 केडब्ल्यू डीसी-001 चार्जर तथा एक केडब्ल्यू सीसीएस-2 चाडीमो चार्जर (डुएल गन) होगा जिससे शिलौंग नगर में कुल 66 चार्जिंग प्वाइंट होंगे। 11 स्थानों में से समझौता ज्ञापन (एमओयू) 4 स्थानों के लिए किया गया है जिसमें लापालांग स्थित पावरग्रिड के कार्यालय परिसर, डेमथ्रिंग के एमटीसी वेयर हाउस, पॉलिसी बाजार के एमटीसी पार्किंग स्थान तथा पोलो के पोलो पार्किंग स्थान शामिल हैं।

पावरग्रिड ने ईवीसीएस व्यवसाय में बाजार की अग्रणी कंपनियों में अपनी जगह बनाई है और हैदराबाद, अहमदाबाद, दिल्ली, बंगलुरु, गुरुग्राम तथा कोच्चि जैसे भारत के प्रमुख शहरों में इसकी उपस्थिति है।

वर्तमान में पावरग्रिड के पास 172,154 सीकेएम ट्रांसमिशन लाइन, 262 सब-स्टेशन तथा 446,940 एमवीए ट्रांसफार्मेशन क्षमता है। नवीनतम टूल्स तथा तकनीकों को अपनाने, ऑॅटोमेशन तथा डिजिटल सॉल्यूशंस के बढ़े हुए उपयोग के साथ पावरग्रिड ने > 99 प्रतिशत औसत ट्रांसमिशन प्रणाली को बनाये रखने में सक्षम रही है।