‘सेवा और समर्पण’ हर भाजपा कार्यकर्ता के लिए मूल मंत्र है : अरुण सिंह

Published on:

भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री श्री अरुण सिंह ने ‘कमल संदेश’ के सह संपादक संजीव कुमार सिन्हा और राम प्रसाद त्रिपाठी के साथ एक विशेष साक्षात्कार में ‘सेवा और समर्पण अभियान’ के पीछे के विचार और इसकी उल्लेखनीय सफलता के बारे में चर्चा की। श्री सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी एक कर्मयोगी हैं और उन्होंने अपने साहसिक निर्णयों और दूरदर्शी नेतृत्व से ‘न्यू इंडिया’ के सपने को साकार करने का विश्वास जनता में पैदा किया है। इसलिए, 17 सितंबर से 07 अक्टूबर तक यानी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन से लेकर 20 दिनों के लिए पार्टी ने पूरे देश में ‘सेवा और समर्पण अभियान’ चलाने का निर्णय लिया। हमारे लिए यह खुशी का पल है क्योंकि इस अभियान का समापन शासन के प्रमुख के रूप में श्री मोदी के शानदार 20 साल पूरे होने पर हो रहा है। प्रस्तुत है बातचीत के प्रमुख अंश–

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष द्वारा 17 सितंबर को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन से शुरू किया गया ‘सेवा और समर्पण अभियान’ 7 अक्टूबर को एक बड़ी सफलता के साथ संपन्न हुआ। कृपया इस अभियान के बारे में हमें बताइए।

जैसा कि आप जानते हैं, 07 अक्टूबर, 2021 को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने सांविधानिक सेवा में अपने 20 वर्ष पूरे किए है, जिसमें गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में 13 वर्ष से अधिक और शेष भारत के प्रधानमंत्री के रूप में है। ठीक 20 साल पहले 07 अक्टूबर 2001 को श्री नरेन्द्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री बने थे। उन्होंने 2001 और 2014 के बीच मुख्यमंत्री के तौर पर कार्य किया और 26 मई, 2014 को देश के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली। श्री मोदी ने 2014 से 2019 तक प्रधानमंत्री के रूप में सेवा करने के बाद मई, 2019 में अपने दूसरे कार्यकाल के लिए शपथ ली। वह अकेले ऐसे राजनेता हैं जो पिछले दो दशकों से उल्लेखनीय उपलब्धियों के साथ राष्ट्र की सेवा कर रहे हैं। इसलिए 17 सितंबर से 07 अक्टूबर तक प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन से लेकर 07 अक्टूबर तक 20 दिनों के लिए पार्टी ने पूरे देश में ‘सेवा और समर्पण अभियान’ के रूप में श्री मोदी के शानदार 20 साल पूरे होने का उत्सव मनाया।

‘सेवा और समर्पण’ अभियान और इसकी भव्य सफलता के पीछे मुख्य विचार और प्रेरणा क्या है?

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी देश के करोड़ों लोगों के लिए सुशासन के प्रतीक हैं। उन्हें उनके दूरदर्शी नेतृत्व और प्रधानमंत्री के रूप में असाधारण सफलताओं के लिए जाना जाता है। अनुच्छेद 370 को निरस्त करने का मामला हो, तीन तलाक के खिलाफ कानून, अयोध्या में राम मंदिर, सीएए, ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा, जीएसटी और आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के लिए आरक्षण, प्रधानमंत्री श्री मोदी ने समाज की बेहतरी के लिए ऐतिहासिक निर्णय लिए हैं, जो देश की आजादी के बाद से लंबित थे। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी एक कर्मयोगी हैं और उन्होंने अपने साहसिक निर्णयों और दूरदर्शी नेतृत्व से ‘न्यू इंडिया’ के सपने साकार करने का विश्वास जनता में पैदा किया है। उनके निर्णयों के कार्यान्वयन ने एक आत्मनिर्भर और मजबूत भारत की नींव रखी, उनके नेतृत्व में देश एक वैश्विक शक्ति के रूप में उभरा है।

श्री मोदी ने गरीबी को बहुत करीब से देखा है और इसी ने उन्हें जन-धन, उजाला, उज्ज्वला, किसान सम्मान निधि, सौभाग्य, पीएम आवास, स्वच्छ भारत अभियान, वोकल फॉर लोकल, गरीब कल्याण और कई अन्य योजनाओं को लागू करने के लिए प्रेरित किया है। उनकी प्रत्यक्ष लाभ योजना ने भ्रष्टाचार पर रोक लगा दी है और बिचौलियों को खत्म कर दिया है। इन सभी कारणों से विशेष रूप से पार्टी के करोड़ों कार्यकर्ता और आम लोग मोदीजी को एक प्रेरणा और मार्गदर्शक के रूप में देखते हैं। मैं तो कहूंगा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी के लिए कार्यकर्ताओं का प्यार और स्नेह, उनका आकर्षक व्यक्तित्व, कल्याणकारी योजनाएं और ऐतिहासिक उपलब्धियां इस अभियान की भव्य सफलता के पीछे की मुख्य प्रेरणा हैं।

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा ने एक समिित का गठन िकया, जिसमें भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्रियों श्री कैलाश विजयवर्गीय, श्रीमती डी. पुरंदेश्वरी, राष्ट्रीय मंत्री श्री विनोद सोनकर और भाजपा किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री राजकुमार चाहर शामिल थे। इस टीम ने भाजपा प्रदेश नेतृत्व और हमारे लाखों कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष के गतिशील नेतृत्व में काम किया।

• इस अभियान के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा कौन से सेवा कार्य किए गए?

20 दिनों के इस अभियान में कई कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। हमारे कार्यकर्ताओं ने 2,000 से अधिक रक्तदान शिविरों का आयोजन किया। देश भर में 45,000 स्थानों पर हानिकारक सिंगल यूज प्लास्टिक का पृथक्करण कार्य संपन्न हुआ। इसी तरह देश के सभी जिलों में हजारों स्थानों पर नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर, नदी और तालाब की सफाई, वृद्धों के घरों, अस्पतालों, मलिन बस्तियों आदि में भोजन, वस्तुओं और फल का वितरण कार्यक्रम आयोजित किया गया।

प्रधानमंत्री श्री मोदी के नेतृत्व में भारतीय वैज्ञानिकों ने दो ‘मेड इन इंडिया’ कोविड टीके तैयार किए और केंद्र सरकार रिकॉर्ड समय में लगभग 100 करोड़ लोगों को मुफ्त में टीके दे रही है। इसलिए, अपने नेता के लिए स्नेह के प्रतीक के रूप में लाखों कार्यकर्ताओं ने इसमें भाग लिया और इस अभियान के दौरान टीकाकरण के लिए जरूरतमंदों की मदद की। श्री मोदीजी के जन्मदिन पर 2.5 करोड़ टीकाकरण के साथ एक विश्व रिकॉर्ड भी बनाया गया और हमारे कार्यकर्ताओं ने इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।
भाजपा कार्यकर्ताओं ने भी दिव्यांग जनों के लिए अत्यधिक सराहनीय कार्य किया और उन्हें हजारों कृत्रिम अंग और अन्य सहायक उपकरण दान किए।

जीवन के हर चरण में प्रधानमंत्री श्री मोदी ने राष्ट्र को मजबूत करने में बहुत योगदान दिया है। इसलिए, देश के विभिन्न जिलों में और नई दिल्ली स्थित भाजपा केंद्रीय कार्यालय में भी प्रदर्शनियों का आयोजन किया गया, जिसमें हमारे प्रधानमंत्री के जीवन के विभिन्न चरणों और उपलब्धियों को दर्शाया गया है। लाखों लोगों ने इन प्रदर्शनियों को देखा और इससे प्रेरणा प्राप्त की।

‘सेवा’ और ‘समर्पण’ हर भाजपा कार्यकर्ता का मूल मंत्र है। इसलिए, इन सेवा कार्यों के साथ हमारे कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री के लिए शुभकामनाएं दीं और उनके अच्छे स्वास्थ्य और लंबे जीवन के लिए प्रार्थना की।

• आजकल राजनीति का अर्थ विरोध, प्रदर्शन, जिंदाबाद और मुर्दाबाद तक सीमित रह गया है। जबकि, भाजपा का ध्यान समाज सेवा पर अधिक है। इसके पीछे क्या विचार है?

किसी भी कार्यकर्ता के लिए राजनीति में तीन उद्देश्य होते हैं। सबसे पहले संगठनात्मक— पार्टी की विचारधारा के आधार पर पार्टी का विस्तार करना हमारे लिए मुख्य संगठनात्मक उद्देश्य है। दूसरा, लोगों के हित के लिए काम करना, जनहित से जुड़े मुद्दों को उठाना और उनके समाधान के लिए संघर्ष करना। तीसरा, समाज के लिए रचनात्मक कार्य करना। योजनाओं के सर्वोत्तम उपयोग के लिए सरकार की उपलब्धियों का प्रसार और लोगों में जन-जागरूकता पैदा करना इस उद्देश्य का हिस्सा है। लेकिन दुर्भाग्य से हमारे विपक्षी दल जनता की समस्याओं के समाधान के लिए नहीं बल्कि अपनी समस्याओं के समाधान के लिए कार्य कर रहे हैं।

श्री नरेन्द्र मोदी ने गरीबी को बहुत करीब से देखा है और इसी ने उन्हें जन-धन, उजाला, उज्ज्वला, किसान सम्मान निधि, सौभाग्य, पीएम आवास, स्वच्छ भारत अभियान, वोकल फॉर लोकल, गरीब कल्याण और कई अन्य योजनाओं को लागू करने के लिए प्रेरित किया है

• श्री मोदी के जन्मदिन पर 2.5 करोड़ टीकाकरण के साथ एक विश्व रिकॉर्ड भी बनाया गया और हमारे कार्यकर्ताओं ने इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाई

भाजपा के लिए ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास’ भारत के सर्वांगीण विकास को बढ़ावा देने का मंत्र है और इसमें हमारे कार्यकर्ताओं को पूर्ण विश्वास है। जब कोविड महामारी के दौरान विपक्ष कहीं नजर नहीं आ रहा था, तब हमारे कार्यकर्ता जरूरतमंदों की मदद के लिए सड़कों पर थे। उन्होंने समस्याओं का सामना किया, लेकिन महामारी के दौरान लोगों की सेवा से पीछे नहीं हटे क्योंकि यह भाजपा की संस्कृति है। लेकिन विपक्षी दलों, जैसे– कांग्रेस, सपा, बसपा और अन्य को समाजसेवा में कोई विश्वास नहीं है। अतः विपक्षी दलों के लिए विरोध, प्रदर्शन, जिंदाबाद और मुर्दाबाद अब मूल मंत्र बन गया हैं और सेवा कार्य जैसे वृक्षारोपण, नदी/तालाब की सफाई, रक्तदान शिविर, स्वास्थ्य शिविर, संकट के समय गरीबों और जरूरतमंदों की मदद करना, स्वच्छता अभियान, वोकल फॉर लोकल, खादी को बढ़ावा देना हमारे दिन-प्रतिदिन के कार्यक्रम का हिस्सा बन गया है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने अपने जीवनकाल में रचनात्मक कार्य पर जोर िदया। अगर कोई गांधीजी के सपनों को पूरा कर रहा है और इन सेवा कार्यों को जन आंदोलन के रूप में बढ़ावा दे रहा है, तो वह प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी हैं।