पूरा विश्व नए उभरते भारत का साक्षात्कार कर रहा है

Published on:

ज जब एक और वैश्विक सर्वे में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी विश्व के सर्वाधिक लोकप्रिय नेता के रूप में उभरे हैं, विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा ‘मेड इन इंडिया’ टीका ‘कोवैक्सीन’ को मान्यता मिलने से भारत ने एक और बड़ी उपलब्धि प्राप्त की है। कोवैक्सिन को मान्यता मिलना न केवल एक बड़ी उपलब्धि है, बल्कि विश्व भर के अनेक देशों के लिए एक सकारात्मक संदेश भी है जो अपने देश में कोविड-19 महामारी से लड़ने के लिए भारतीय टीकों की बाट जोह रहे हैं। आज जब ‘वसुधैव कुटुंबकम्’ के मंत्र को चरितार्थ करते हुए भारत पांच अरब टीके की खुराक निर्मित करने की तैयारी कर रहा है, अनेक देश ‘मेड इन इंडिया’ टीकों के बल पर महामारी के विरुद्ध अपनी लड़ाई तेज करने की आशा संजोए हुए हैं। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की विश्व में सर्वाधिक 70 प्रतिशत लोकप्रियता एक ‘नए भारत’ के उदय का उद्घोष है जो न केवल आत्मविश्वास से परिपूर्ण है बल्कि दूसरे देशों की आवश्यकता में सहायता करने को भी तत्पर है।

आज पूरा विश्व प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के सुदृढ़ एवं दूरदर्शी नेतृत्व में एक उभरते हुए ‘नए एवं आत्मनिर्भर भारत’ का साक्षात्कार कर रहा है जो न केवल अपने दायित्वों के प्रति सजग है बल्कि वैश्विक मंचों पर अग्रणी भूमिका निभा रहा है

आज पूरा विश्व प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के सुदृढ़ एवं दूरदर्शी नेतृत्व में एक उभरते हुए ‘नए एवं आत्मनिर्भर भारत’ का साक्षात्कार कर रहा है जो न केवल अपने दायित्वों के प्रति सजग है बल्कि वैश्विक मंचों पर अग्रणी भूमिका निभा रहा है। जी-20 एवं काॅप 26 सम्मेलनों के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का हाल में यूरोपीय देशों के दौरे से भारत की छवि वैश्विक विषयों के लिए प्रतिबद्ध देश के रूप में बनी है। ध्यान देने योग्य है कि भारत आतंकवाद, अंतरराष्ट्रीय संपर्क एवं कर, जलवायु परिवर्तन, संयुक्त राष्ट्र संघ संस्थाओं में सुधार एवं विश्व शांति से जुड़े विषयों को निरंतर अंतरराष्ट्रीय मंचों पर उठाता रहा है।

कोविड-19 महामारी के दौरान भारत ने न केवल 150 देशों को दवाइयों की आपूर्ति की, बल्कि जरूरतमंद देशों को ‘मेड इन इंडिया’ टीकों, चिकित्सकीय उपकरणों, आक्सीजन, विशेषज्ञता आदि उपलब्ध कराकर ‘फार्मेसी आॅफ द वर्ल्ड’ के रूप में उभरा है। वैश्विक विषयों पर भारत के दायित्व बोध को इस तथ्य से समझा जा सकता है कि जलवायु परिवर्तन के विषयों पर भारत ने चमत्कारिक कदम उठाए हैं और इस विषय पर भारत की प्रतिबद्धता क्लाइमेट चेंज परफाॅर्मेंस इंडेक्स (सीसीपीआई) में दिखती है। हाल में जारी आंकड़ों के अनुसार ‘सीसीपीआई’ में जहां विश्व के बड़े एवं विकसित देश भी फिसले हैं, भारत ने लगातार तीसरे वर्ष भी अपने को दसवें पायदान पर बनाए रखा है। ‘अंतरराष्ट्रीय सौर्य गठबंधन’ एवं ‘नेट-जीरो उत्सर्जन’ के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की प्रतिबद्धता से भारत की छवि एक ऐसे बड़े देश के रूप में बनी है जो अपने दायित्वों का निर्वहन पूरी तत्परता से करता है।

एक ओर जहां प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के अमेरिका एवं यूरोप दौरे से विश्वभर में भारत की छवि और अधिक निखरी है, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हाल ही में संपन्न राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक से राष्ट्रसेवा को तत्पर भाजपा कार्यकर्ताओं का संकल्प और भी सुदृढ़ हुआ है। भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा ने अपनी अध्यक्षीय उद्बोधन में उन प्रदेशों में भी भाजपा की सरकारों के गठन का संकल्प लिया जहां आज भी जनता अपनी आकांक्षाओं की पूर्ति के लिए भाजपा सरकार की राह देख रही है।

आज जबकि केंद्र से लेकर विभिन्न प्रदेशों तक भाजपा स्वर्णिम उपलब्धियों की गाथा लिख रही है, यह विश्व की सबसे बड़ी राजनैतिक पार्टी भी बन चुकी है। देश के हर बूथ पर बूथ समितियों का गठन एवं ‘पन्ना प्रमुख’ की व्यवस्था के सुदृढ़ीकरण के लक्ष्य के पूर्ण होने से भाजपा जनाकांक्षाओं को पूरे देश में पूर्ण करने में और भी अधिक सक्षम एवं समर्थ बनेगी। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की प्रेरणा से ‘अब हर घर दस्तक’ अभियान से देश के टीकाकरण अभियान को शीघ्रातिशीघ्र पूरा करने में सहायता मिलेगी।
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की प्रेरणा एवं भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा के दिशानिर्देश में चले ‘सेवा ही संगठन’ अभियान ने भाजपा के करोड़ों कार्यकर्ताओं को कोविड-19 महामारी के दौरान स्वयं को जनसेवा में समर्पित होने को प्रेरित किया। भाजपा कार्यकारिणी में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने अपने संबोधन में भाजपा कार्यकर्ताओं को सेवा के संकल्प के साथ जमीनी स्तर पर जन-जन से जीवंत संपर्क बनाए रखने पर बल दिया है। सेवा के संकल्प के कारण ही आज भाजपा देशभर में जन-जन की पार्टी बन गई है।

     shivshaktibakshi@kamalsandesh.org