भाजपा ‘आत्मनिर्भर भारत’ की आकांक्षाओं का प्रतिनिधित्व करती है


पने गौरवशाली यात्रा के 41 वर्ष पूर्ण होने के साथ ही भारतीय जनता पार्टी का मां भारती की सेवा का संकल्प और भी अधिक सुदृढ़ हुआ है। भाजपा पर जन-जन के बढ़ते विश्वास का ही परिणाम है कि आज यह विश्व की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी बन चुकी है। ‘एकात्ममानव दर्शन’ एवं ‘पंचनिष्ठाओं’ के प्रति अटूट प्रतिबद्धता ने भाजपा को एक विशिष्ट राजनीतिक दल बना दिया है। ‘राष्ट्र प्रथम’ के सूत्र वाक्य से प्रेरणा लेते हुए ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ का मंत्र भाजपा का पथ-प्रदर्शक सिद्धांत बन चुका है। भाजपा न केवल सुशासन व विकास का प्रतीक बनकर उभरी है, बल्कि एक ऐसे राजनीतिक दल के रूप में स्थापित हुई है जो लोकतंत्र के लिए प्रतिबद्ध है। जहां एक ओर आपातकाल के दौरान भाजपा ने लोकतंत्र बचाने के लिए संघर्ष किया, वहीं दूसरी ओर यह देश का एकमात्र राजनीतिक दल है जिसमें आंतरिक लोकतंत्र का जीवंत साक्षात्कार किया जा सकता है। आज जबकि अन्य सभी राजनीतिक दल वंशवादी-जातिवादी-क्षेत्रवादी एवं सत्ता केंद्रित संकीर्ण राजनीति की चपेट में हैं, भाजपा ‘आत्मनिर्भर भारत’ की आकांक्षाओं का प्रतिनिधित्व कर रही है।
पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनावों में भाजपा लोगों की आशा की किरण बनकर उभरी है। जहां असम, तमिलनाडु, पुडुचेरी और केरल में मतदान समाप्त हो चुका है, वहीं पश्चिम बंगाल में अप्रैल के अंत तक मतदान की प्रक्रिया संपन्न हो जाएगी। यह हर्ष का विषय है कि लोग बड़ी संख्या में इन चुनावों में भागीदारी कर रहे हैं। इन चुनावों में 65 प्रतिशत से लेकर 80 प्रतिशत के ऊपर तक के मतदान के समाचार प्राप्त हुए हैं जो कि भारतीय लोकतंत्र की एक बड़ी जीत है। साथ ही, पश्चिम बंगाल में भी अब तक सफलतापूर्वक चुनाव संपन्न होना एक ऐसी उपलब्धि है, जिससे भारतीय लोकतंत्र पर गर्व किया जा सकता है। पश्चिम बंगाल में बाकी के चरणों में होने वाले चुनावों के लिए चुनाव आयोग को पूरी तरह से चौकन्ना रहना पड़ेगा।
इन चुनावों में अब तक जनता का भारी उत्साह भाजपा की रैलियों और जनसभाओं में देखा गया है। राजग सरकार की कड़ी मेहनत, अभिनव योजनाएं एवं भविष्योन्मुखी नीतियों से असम में शांति, विकास एवं प्रगति के नए द्वार खुल गए हैं। इस बार भी जनता ने पुन: भाजपा-राजग को सरकार बनाने के लिए अपना भरपूर आशीर्वाद दिया है। पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी एवं तृणमूल कांग्रेस के कुशासन, भ्रष्टाचार, कट-मनी, तोलाबाजी, वंशवादी राजनीति एवं विकास विरोधी नीतियों के विरुद्ध लोगों का भारी गुस्सा जमीन पर स्पष्ट देखा जा रहा है। लोग भाजपा में प्रदेश का स्वर्णिम भविष्य देख रहे हैं और अब तक हुए मतदान से ऐसा प्रतीत होता है कि पश्चिम बंगाल में भाजपा सरकार बनना अब निश्चित हो चुका है। तमिलनाडु में केंद्र सरकार के विशेष प्रयासों एवं योजनाओं से लोग प्रसन्न हैं और प्रदेश सरकार भी अपने वादों को पूरा करने में सफल रही है, परिणाम यह है कि प्रदेश में राजग सरकार का बनना तय लगता है। पुडुचेरी में पूर्व की कांग्रेस सरकार के विरुद्ध लोगों के मन में भारी गुस्सा है और उन्होंने भाजपा के पक्ष में भारी मतदान किया है। केरल में भाजपा एक बड़ी शक्ति के रूप में उभर रही है।
भाजपा स्थापना दिवस पर देश भर के पार्टी पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने ठीक ही कहा है कि भाजपा पारदर्शिता एवं सुशासन का प्रतिनिधित्व करती है, ‘राष्ट्र प्रथम’ के विचार पर चलते हुए राष्ट्रीय सुरक्षा को सर्वोपरि मानती है और राष्ट्रहित से कभी समझौता नहीं करती। भाजपा साफ नीयत, स्पष्ट नीति से जनहितकारी निर्णय लेने के लिए जानी जाती है। भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा ने अपने संबोधन में कोविड-19 वैश्विक महामारी में व्यापक जनसेवा के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं की भूरी-भूरी प्रशंसा की है। अपने करोड़ों प्रतिबद्ध कार्यकर्ताओं के अथक परिश्रम एवं निरंतर कार्य के कारण आज भाजपा एक ऐसी अनूठी राजनीतिक पार्टी के रूप में उभरी है, जो राष्ट्रीय पुनर्निर्माण के लक्ष्यों के प्रति समर्पित हो राष्ट्र का गौरव बढ़ा रही है। अब जबकि करोड़ों भाजपा कार्यकर्ता मां भारती की सेवा में समर्पित हैं, एक गौरवशाली राष्ट्र पूरे विश्व में मानवता की सेवा को तत्पर हो रहा है।

shivshaktibakshi@kamalsandesh.org